Monday, 18 December 2017

हां, मैं कांग्रेसी हूं हर बुरे-अच्छे दौर का गवाह हूं।

हां मैं कांग्रेसी हूं। मैंने वो दौर भी देखा है जब हम सत्ता मे थे। मैंने वो दौर भी देखा है जब हम 44थे। मैंने वो मंजर भी देखा है जब हम उत्तर प्रदेश मे साथ थे पर हमारे विधायक सिर्फ 7 थे। मैं उस दौर का भी साक्षी हूं जब गोवा-मणिपुर मे लोकतंत्र की हत्या कर सरकार बनाई जा रही थी। मैं उस जश्न मे भी शरीक था जब पंजाब मे अकाली-बीजेपी ठगबंधन को बेदखल कर सत्ता संभाली जा रही थी। मैं उस दौर का भी गवाह हूं जब महाराष्ट्र मे ध्वनिमत से बहुमत वाली बहु लाई जा रही थी।



मैं उस हरियाणा का तो रहने वाला ही हूं जिस हरियाणा मे बीजेपी आने के बाद जाट-ओबीसी मे खाई खोदी जा रही थी। उस खोदी खाई में 35बिरादरी का नारा लगा जाट बिरादरी डाली जा रही थी इस जातियों की खाई मे जाट जाति को गिराकर ओबीसी बिरादरी मे आग लगाई जा रही थी।
मैं उस वक्त का भी दर्शक रहा हूं जब दिल्ली मे हम जीरो थे पर हरियाणा का लाला अरविंद केजरीवाल हीरो थे। 

मैंने पल वो भी देखा है जब कांग्रेस के विधायक उठाये जा रहे थे डराये जा रहे थे अपने मे मिलाये जा रहे थे लेकिन डर-भ्रष्टतंत्र ने भी अमित शाह को उसके जाल मे फंसाया था हमने जा चुनाव आयोग मे अहमद पटेल राज्यसभा सांसद बनवाया था। असल चुनाव हम वो ही जीते थे जब हमने जोरदार थप्पड़ से गुंडों के मुंह पीटे थे।

मैं उस दौर मे भी साथ खड़ा था जब राहुल गांधी अकेला जा गुजरात मे लड़ा था। साथ मिला था हार्दिक, जिग्नेश, अल्पेश का, गुजरात को राहुल में दिखा चेहरा ऐसा जो बने प्रधानमंत्री देश का।

"चुनाव हारा है हिम्मत नही, राहुल गांधी को कोई रोक सके किसी की इतनी जुर्रत नही, मेहनत की थी करते रहेंगे, हम देशविरोधी तानाशाही ताकतों से लड़ लोकतंत्र स्थापित करने के प्रयास करते रहेंगे"

हां, मैं कांग्रेसी हूं, मुझे गर्व है मेरा नेता शरीफ है गुंडा नही।

No comments:

Post a comment